सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन क्‍या है और कैसे करे - What is SEO in Hindi

 



What is SEO in Hindi - हम बात करने वाले हैं SEO यानि “Search Engine Optimization” के बारे में SEO क्या है और कैसे करते हैं what's SEO in Hindi, SEO किसी Hindi या English Website or Blog के लिए क्‍यों जरूरी है जब आप एक नया Blog शुरू करते हैं तब आप SEO को लेकर काफी चिंतित रहते हैं यह बिल्‍कुल वैसे ही है जैसे कार सीखते समय आपको Traffic rules जानना बहुत जरूरी है यहां हम जानने वाले हैं program Optimization (SEO) क्‍या है और ये कैसे किसी Blog के Traffic या पाठकों की संख्‍या को बढा सकता है या बढाने में मदद करता है 



Search engine हमेशा पाठकों का हित सोचता है जैसे Google program हमेशा यह निर्णय लेता है कि User जो Topic Search कर रहा है वह बिल्‍कुल सटीक जानकारी तक पहुंच पाये इसलिए आपको अपने Blog को इस तरह लिखना होता है कि या Optimize करना होता है ताकि program उसको सर्च रिजल्‍ट में सबसे ऊपर दिखाये 


SEO को जानने से पहले आपको यह चीज समझनी होगी कि आपके Website पर Traffic या पाठक कहां से आते हैं वे सभी Google या Other program का इस्‍तेमाल करके आपके Website तक पहुंचते हैं अब program किसी भी Website को कुछ मानकों के आधार पर अपने Page पर जगह देता है



What is Keyword in SEO in Hindi


Search engine पर जब आप कोई Query डालते हैं तो उसे keywords कहा जाता है इस keywords के सहारे ही program आपके Blog या Website तक पहुंचता है program के काम करने का तरीका कुछ इस तरह होता है जब आप कोई Article लिखते हैं तो उसमें उस Article से संबंधित keywords होते हैं अगर सीधी भाषा में कहूं तो हर शब्‍द एक Keyword होता है Google आपके हर Page को Index करता है जब कोई व्‍यक्ति program में उस से संबंधित keywords को type करता है तो program index की गई Website में उस Keyword को Match कराता है और उसी के आधार पर User को Result दे देता है तो इस तरह कोई भी व्‍यक्ति आपकी Website पर program के माध्‍यम से पहुंच पाता है 



Search Engine एक ऐसा माध्‍यम है जिसमें आप बिना एक रूपया खर्च किये हुए अपने Blog या Website को लोगों तक पहुंचा सकते हैं और इसमें सबसे बडी भूमिका निभाता है program Optimization



सर्च इंजन क्‍या होता है (What may  search engine)


Internet पर सूचनाओं का विशाल भण्‍डार है लाखों Website और Blog Daily update होते हैं ऐसे में अगर कोई जानकारी search करनी हो तो उस तक पहुॅच पाना बिना program के असंभव है program Internet पर Information खोजने का सबसे आसान तरीका है यह Internet पर लाखों Websites को Keyword द्वारा search करने के लिए बनाए गये होते हैं program की सहायता से कोई भी व्‍यक्ति किसी सटीक Topic पर कम समय में पहुंच सकता है 



SEO यानि “Search Engine Optimization क्‍या है 


सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन (Search engine optimization) या SEO एक ऐसी प्रक्रिया है जो आपके Blog या Website को Optimize करके program के अनुकूल बनाती है जिससे आपका Blog program में अपनी जगह बना सकता है इसके लिए सबसे पहले हमें program को समझना होगा 



मान लीजिये आप Recipe से संबंधित को Blog लिखते हैं और आप बहुत top quality Content भी Publish करते हैं लेकिन आप उन नियमों का पालन नहीं करते जिसके आधार पर कोई program आपकी Website तक पहुंच सकता है तो फिर आपका Blog बनाने का कोई फायदा नहीं होगा 


यहां एक बात समझनी बहुत जरूरी है कि सबसे पहले आपके Blog को एक Software पढता है जिसे (क्रॉलर) Crawler कहते हैं और इस प्रक्रिया को Crawling या Spidering कहते हैं Google के Crawler का नाम Googlebot है जो आपकी Website को लगातार पढता रहता है Google-bot आपके Blog पर किये गये New updates को तभी पढ पायेगा जब वह SEO के आधार पर लिखे गये होंगे वह उनमें दिये गये Keywords को पढने के बाद ही किसी नतीजे पर पहुंचेगा 



लेकिन अगर क्‍या हो कि Google bot आपके बहुत अच्‍छे Article को भी ना पढ पाये क्‍योंकि आपने अपने Page का SEO नहीं किया है आपका Page program के लिए अनुकूल नहीं है तो फिर आपका कितना भी अच्‍छा Article लिखना बेकार है program optimization आपकी Website या Blog को program के लिए बेहतर बनाने का एक तरीका है इससे आप अपनी Website को Google Search में Top Result पर ला सकते हैं यहां तक कि कभी कभी Google के पहले Search Result में आपका blog भी हो सकता है इससे आपके Blog पर Visitors की संख्‍या बढ जाती है और साथ ही आपके Blog की Popularity भी 



वेबसाइट की स्‍पीड (Website speed) पर ध्‍यान दें 


SEO में आपके Website की Speed बहुत मायने रखती है अगर आप खुद भी गूगल पर कोई Website Search कर रहे हैं तो शुरूआती 4 से 5 Website को ही Open करते हैं मान लीजिये इसमें आपका Blog शामिल है जिसकी Speed Slow है और दूसरा Result आपके Competitor का है जो आपके blog से जल्‍दी Open हो जाता है तो ऐसे में कोई भी User 4 से 5 Second Wait करेगा और यदि आपका Blog Open नहीं होगा तो वह छोडकर चला जायेगा और इस बात को program notice कर लेगा तो यहां फर्क इस बात से नहीं पडता है कि आपका Articles कितना अच्‍छा था फर्क इस बात से पडता है कि आपका Blog जल्‍दी Open हुआ या नहीं 


Website का Navigation सरल बनायें 


Website का Navigation बहुत आसान होना चाहिए Page इस तरह से आपस में Link होने चाहिए कि visitor को एक Page से दूसरे Page पर जाने में कोई दिक्‍कत न हो 


High Quality Content लिखें 


High Quality Content का मतलब है कि आप जो भी जानकारी दे रहे हैं वह ठीक प्रकार से लिखी गई हो उसमें कोई भी Grammatical Mistake न हो Article कम से कम 500 से 1000 Word का हो आपकी अपनी भाषा में लिखा गया हो न कि Internet से Copy Paste किया गया हो Article में Keyword जबरदस्‍ती न लगाए गये हों वह अपनी बात पूरी तरह से सार्थक करता हो 



Article में Title के लिए H1 और Heading और Sub Heading के लिए H2, H3 Tag का इस्‍तेमाल किया गया होगा Artical में आपके Blog के अन्‍य Page के लिंक भी होने चाहिए जिससे User को Blog कर Navigate करने में कोई असुविधा न हो 


Alt Tag के साथ आकर्षक Image बनायें ?


जब पहली बार कोई Google Image से Search करता है तो वहां पर आपके Blog Post की Image दिखाई देती है यह Image जितनी आकर्षक होगी उतना ज्‍यादा अच्‍छा रहेगा साथ ही इस Image में ALT Tag जरूर इस्‍तेमाल करें जिससे Google bot को पता चलेगा कि यह Image की बारे में है


कौनसा Image Format use करें?


वर्तमान में एससीओ के हिसाब से आपके ब्लॉग और वेबसाइट पर next gen image format का होना अति आवश्यक है इससे आपकी Blog की Speed तो बढ़ती है और की Blog Ranking में भी इजाफा होता है Next Gen Image Format बनाने के लिए Online image converter से JPG या PNG फाइल को WebP format में convert कर लें


Page का Title गजब का हो 


Page का Title “गागर में सागर” के समान होना चाहिए किसी भी Visitor की सबसे पहली नजर आपके title पर ही पडती है जब वह program में वह उसे देखता है इस Title में Focus keyword भी होना चाहिए Focus keyword वह keyword होता है जिस विषय पर आपका Article लिखा गया है इसलिए बेहतर से बेहतर Page Title बनाने की Practice जरूर करें 


प्रभावी यूआरएल की रचना करें 


हर Page का एक URL जरूर होता है जो आपको किसी भी program में Index कराने में मदद करता है यह URL छोटा और प्रभावी होना चाहिए साथ ही Focus keyword से युक्‍त होना चाहिए 


ऑफ पेज सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन (Off page SEO in Hindi)


Off page SEO का सारा काम एक तरह से Marketing के जैसा होता है जिसमें आपको Blog को अन्‍य माध्‍यमों से Visitors तक पहुंचाना होता है इसे Backlink बनाना भी कहते हैं यहां पर आप अपने Blog का Promotion अन्‍य Website पर करते हैं या कहें तो Popular Website पर जाकर Backlink बनाते हैं इन्‍हीं Backlink के माध्‍यम से Website पर traffic आना शुरू हो जाता है आइये जानते हैं Offpage SEO के कौन-कौन से तरीके होते हैं 


Social Media Marketing करें 


यहां पर आप Social Media Website के माध्‍यम से अपने Blog Post पर Visitors ला सकते हैं सबसे पहले hottest Website पर अपना Account बनाइये जैसे Facebook,Twitter, Instagram, Quora, Linkedin आदि उसके बाद अपनी Post का URL इन Website पर Submit कीजिये जैसे-जैसे आपके Followers बढेंगे वैसे-वैसे आपकी Website पर traffic भी बढेगा 


Guest Post लिखें 


यह एक ऐसा तरीका है जिसमें आप किसी दूसरे Blog पर जाकर अपना Article submit करते हैं और वहां से अपने Blog के लिए Backlink लेते हैं Backlink एक प्रकार का Hyperlink होता है जिसपर Click करके कोई व्‍यक्ति आपके Blog पर पहुंच सकता है 


Question & Answer (Q&A) करें 


वर्तमान में बहुत सारी Question & Answer Websites हैं जहां पर लोग प्रश्‍न करते हैं जिनके उत्‍तर देते समय आप अपने Blog का Link Submit कर सकते हैं Q&A Website के उदाहरण निम्‍नलिखित हैं 


Quora.com


Answers.yahoo.com


Stackoverflow.com


Answers.com


Blog Comment का प्रयोग करें 


आप अपने Blog के विषय से संबंधित Blog पर जाकर Comment कर सकते हैं और वहां पर Backlink दे सकते हैं यह भी एक अच्‍छा तरीका है अपने Blog पर Traffic लाने का


Post a comment

0 Comments